भारत सरकार के वाणिज्य विभाग में आपका स्वागत है : 91-11-23062261
Shri Narendra Modi
श्री नरेंद्र मोदी
भारत के प्रधान मंत्री
स्वायत्त निकाय
भारतीय बागान प्रबंधन संस्थान

भारतीय इंस्टीट् यूट ऑफ प्लांटेशन मैनेजमेंट (आईआईपीएम) बैंगलोर एक स्वायत्त संस्थान है जो 1990 में भारत सरकार के वाणीज्य मंत्रालय द्वारा स्थापित किया गया है, जो बागान सेक्टर के क्षेत्र में व्यावसायिक प्रबंधन शिक्षा प्रदान करता है। वाणीज्य विभाग, भारत सरकार के चार कमोडिटी बोर्ड अर्थात कॉफी बोर्ड, चाय बोर्ड, रबर बोर्ड और मसाले बोर्ड, बागान और कृषि व्यवसाय उद्योग की अग्रणी इकाइयाँ और बागान संघों अर्थात भारतीय चाय संघ (आईटीए) और यूपीएएसआई इसके संस्थापक भागीदार हैं । आईआईपीएम कनार्टक सोसायटी पंजीकरण अधिनियम , 1960 के तहत बैंगलोर में एक सोसायटी के रूप में पंजीकृत है।

संस्थान का उद्देश्य उद्योग और बागान और संबद्ध कृषि-व्यवसाय क्षेत्र के आर्थिक और सामाजिक विकास में लगे हुए अन्य एजेंसियों को शिक्षा, अनुसंधान, प्रिशक्षण, विकास और परामर्श सेवाएं प्रदान करना है। संस्थान युवा अभ्यर्थियों के लिए व्यावसायिक पाठयक्रमों का आयोजन करता है ताकि वे बागान और संबद्ध कृषि व्यवसाय उद्योग में प्रवेश स्तर के प्रबंधकीय पदों को पा सकें और उद्योग के प्रबंधकों और मालिक-प्रबंधकों को प्रशिक्षित कर सकें जिन्हें प्रबंधन में नवीनतम तकनीकों और विचारों पर अपडेट की आवश्यकता है। संस्थान सरकार और उद्योग के लिए एक संसाधन केंद्र के रूप में भी कार्य करता है और इस क्षेत्र से संबंधित नीति, रणनीतिक और परिचालन संबंधी मुद्दों पर अनुसंधान करता है।

आईआईपीएम को 15 सदस्यीय गवर्निंग बोर्ड द्वारा प्रबंधित किया जाता है, जिसमें भारत सरकार के कमोडिटी बोर्ड (कॉफी, चाय, रबड़ और मसाले) के प्रतिनिधि, बागान संघो के प्रतिनिधि (उत्तर और दक्षिणी भारत का प्रतिनिधित्व), बागान मालिक, प्रैक्टिसिंग मैनेजर्स, केन्द्र सरकार, अनुसंधान शिक्षा और प्रिशक्षण संस्थान और बागान क्षेत्र में अन्य हित धारक शामिल है। आईआईपीएम सोसायटी के निदेशक बोर्ड के पदेन सदस्य होते हैं।

संस्थान पेशेवर प्रबंधन पाठ्यक्रम अर्थात दो साल का पूर्णकाल (एआईसीटीई-एमएचआरडी-जीओआई अनुमोदित) प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा: कृषि-व्यवसाय एवं बागान प्रबंधन (पीजीडीएम-एबीपीएम) और एक साल का स्नातकोतर प्रमाणपत्र कार्यकर्म : अंतरार्ष्ट्रीय व्यवसाय (पीजीसीपी-आईबी) प्रदान करता है। 2013-14 में, संस्थान में पूर्णकालिक आवासीय, डॉक्टरेट कार्यक्रम अर्थात बागान प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं में कुशल और नवीन शोधकर्ता और शिक्षक बनने के इच्छुक भावी विद्यार्थियों के लिए कृषि-व्यवसाय और बागान प्रबंधन (एफपीएम-एबीपीएम) में फेलो (पीएचडी) कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

अपनी स्थापना के बाद से, 700 से अधिक छात्रों ने शैक्षिक कार्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा किया है और प्रमुख राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बागान और संबद्ध कृषि-व्यवसाय संगठनों में रोजगार पाया है। संस्थान ने अपने शैक्षिक और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के अलावा विभिन्न हितधारकों के लिए कई क्षमता निर्माण कार्यक्रम संचालित किए हैं।

संस्थान के पास ज्ञान अर्थात उत्पादकता, कार्यबल प्रशासन, चाय चखने और विपणन, कॉफी उधमिता, व्यापार के लिए क्लस्टर दृष्टिकोण, बहुभाषी डिजिटल भाषा और संचार आदि के विशिष्ट क्षेत्रों को पूरा करने के लिए सरकार, कमोडिटी बोर्ड और उद्योग के साथ साझेदारी में कई ज्ञान संसाधन केंद्र स्थापित हैं। संस्थान के पास 2 अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त एजेंसियों अर्थात एसोसिएशन टू एडवांस कॉलेजिएट स्कूल ऑफ बिजनेस (एएसीएसबी, यूएसए) और यूरोपीय फाउंडेशन फॉर मैनेजमेंट डेवलपमेंट (ईएफएमडी, ब्रसेल्स) की शैक्षिक सदस्यता है।

  •   ज्ञाना भारती कैम्पस, मालाथल्ली पोस्ट, बैंगलोर 560056
  •   (91) 80-23211716 (ईपीएबीएक्स) ; (91) 80-23212773 (प्रत्यक्ष), फैक्स: (91) 80-23212775;
  • http://www.iipmb.edu.in
  •   director@iipmb.edu.in